पैसा खर्च करें और बचाएं INCOME TAX- Part 3

No comments

एजुकेशन लोन के ब्याज का भुगतान
बच्‍चों की उच्च‍ शिक्षा का सपना भला कौन मां बाप पूरा नहीं कर चाहता। पर ज्‍यादातर मामलों में उच्च‍ शिक्षा की बढ़ती लागत बाधा बनती है। एजुकेशन लोन ऐसे ही समय में मददगार साबित होता है। देश या विदेश में पढ़ाई के लिए बैंक 4-30 लाख रुपए तक का एजुकेशन लोन उपलब्ध करवाते हैं जिसके पुनर्भुगतान की अवधि 7-15 साल की होती है।

धारा 80 ई के तहत आप एजुकेशन लोन पर दिए जाने वाले पूरे ब्याज पर छूट पा सकते हैं। अगर बच्चे की पढ़ाई के लिए अभिभावक या फिर मां-बाप लोन लेते हैं तो वे भी इस कटौती के हकदार होंगे। इसके लिए जरूरी है कि एजुकेशन लोन किसी मान्यता प्राप्त आर्थिक संस्थान या चैरिटेबल इंस्टिट्यूट से लिया जाए। वोकेशनल कोर्सेस समेत किसी भी किस्म की पढ़ाई के लिए एजुकेशन लोन बारहवीं उत्तीर्ण करने के बाद लिया जा सकता है।

बच्‍चों की ट़यूशन फीस
दिल्‍ली स्थित जे. एस. फाइनेंशियल एडवाइजर्स के सर्टिफायड फाइनेंशियल प्‍लानर जितेंद्र सोलंकी ने बताया कि दो बच्‍चों की सालाना 1,00,000 रुपए तक की ट्यूशन फीस पर आयकर का लाभ प्राप्‍त किया जा सकता है। दो बच्चे के लिए इसकी अधिकतम सीमा 1,00,000 रुपए है और इसका लाभ अधिकतम दो बच्‍चों की पढ़ाई के लिए दिए गए ट्यूशन फीस पर ही मिलता है। हालांकि, माता-पिता अलग-अलग इसका लाभ उठा सकते हैं।

For More Tips Keep visiting us at www.gauravkansal.com

Dont forget to join us at FACEBOOK

No comments :

Post a Comment